बिलासपुर नगर निगम का आज बजट पेश होगा

बिलासपुर। बिलासपुर नगर पालिका निगम की सामान्य सभा में वित्तीय वर्ष 2023-24 का बजट पेश किया जाएगा पिछले साल की तुलना में इस बार बजट में 500 करोड रुपए की बढ़ोतरी की जा रही है। मेयर रामशरण यादव करीब 1500 करोड रुपए की बजट लाने की तैयारी में है। लेकिन इनमें से शहरवासियों की सुविधा के लिए बजट में टैक्स में छूट के अलावा कोई खास योजना नहीं है। नगर निगम अपनी पिछली प्रस्तावित योजनाओं को भी अमल में नहीं ले पाई है।

नगर निगम की सामान्य सभा गुरुवार को दोपहर 12:00 बजे से लखीराम अग्रवाल स्मृति ऑडिटोरियम में आयोजित होगी। इसमें 25 एजेंट रखे गए हैं। इनमें एक भी एजेंट ऐसा नहीं है, जिसके पास होने पर शहर विकास को गति मिल पाए। विपक्षी दल भाजपा ने इन एजेंड को पूरी तरह से बोगस बताया है। उनका कहना है कि निगम के एजेंट में विकास गायब है, सामान्य सभा में विपक्षी दल के पार्षद अपने तीखे तेवर दिखाने में मूड में है। उनका आरोप है कि सामान्य सभा केवल खानापूर्ति के लिए बुलाई गई है।

सभागृह बनाने का प्रस्ताव और महिलाओं के लिए प्रशिक्षण केंद्र। नगर निगम के विस्तार के बाद जनप्रतिनिधियों की संख्या में वृद्धि होने के कारण सामान्य सभा की बैठक के लिए टाउन हॉल के पीछे एक सर्व सुविधायुक्त सभागृह का निर्माण कार्य की आवश्यकता है। प्रथम चरण में कार्य के लिए राज्य शासन से अनुदान प्राप्त कर तीन अरब 50 करोड रुपए का प्रदान किया गया है। इसके लिए नगर निगम के पास भूमि उपलब्ध है। इसी प्रकार महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए निगम की ओर से रोजगार प्रशिक्षण केंद्र बनाने की योजना है। इसके लिए योगदान लेकर प्रशिक्षण केंद्र बनाने का प्रावधान किया गया है। इसमें महिलाओं को सिलाई, कढ़ाई, मेहंदी अन्य रोजगार प्रशिक्षण उनके रुचि अनुसार दिया जाएगा। इसके लिए 20 लख रुपए का प्रावधान प्रस्तावित है, इसके साथ ही राजकिशोर नगर में सिर्फ महिलाओं के लिए उद्यान निर्माण के लिए 50 लाख का प्रावधान प्रस्तावित है।

मेयर रामशरण यादव के कार्यकाल का यह पांचवीं सामान्य सभा है। कांग्रेस के सरकार का आखिरी बजट होगा। विधानसभा चुनाव के दौरान विवादित ऑडियो फोन कॉल रिकॉर्डिंग सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद मेयर रामशरण यादव को कांग्रेस से निलंबित कर दिया है। चुनाव के दौरान टिकट वितरण को लेकर महापौर और कांग्रेस नेता अरुण तिवारी के बीच मोबाइल से बातचीत हुई थी। जिसे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अरुण तिवारी ने मीडिया के सामने लाया था। बातचीत के दौरान मेयर रामशरण यादव ने कांग्रेस हाईकमान के नेताओं पर पैसा लेनदेन पर टिकट बांटने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि 4 करोड रुपए में टिकट बंट गए, उनका ऑडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस के बड़े नेताओं में हड़कंप मच गया था। जिसके बाद उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया गया था।

प्रमुख योजनाएं जो अधूरी है

नगर निगम के पिछले वित्तीय बजट 1024.72 करोड़ का था। जिसमें केंद्र प्रवर्तित योजना पूर्व से संचालित भूमिगत मल निकास योजना, अमृत मिशन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, के तहत 3570 मकान के साथ ही 3432 आवास के कार्य को इस वित्तीय वर्ष में पूर्ण करने का प्रावधान रखा गया था। इसके साथ ही योजना में 15 वित्त आयोग की राशि 5054.90 लाख के तहत नालों का निर्माण, सड़कों का निर्माण, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट एवं पेयजल व्यवस्था का प्रावधान शहर विकास के लिए किया गया था, लेकिन इनमें से ज्यादातर योजनाएं धरातल पर ही नहीं आ पाई। और बहुत सारी योजना अधूरी है जिन पर काम नहीं हो सका है, पिछले बजट में नगर निगम ने राज्य प्रवर्तित योजना के तहत ज्ञानस्थली योजना के लिए एक अरब रुपए पुष्प वाटिका योजना के लिए 50 करोड़ सरोवर धरोहर योजना के तहत तालाब सौंदर्यकरण के लिए चार अरब की राशि का कार्य प्रस्तावित किया गया था लेकिन प्रस्तावित योजनाएं धरी की धरी रह गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Popular

More like this
Related

CG BREAKING : नक्सली आईईडी विस्फोट में आईटीबीपी के दो जवान घायल, तलाशी अभियान जारी

नारायणपुर। नक्सल प्रभावित इलाके में बड़ी घटना हुई है।...

आबकारी घोटाला में शामिल अरुणपति, अनवर और अरविंद की रिमांड खत्म, जल्द कोर्ट में पेश किया जाएगा

रायपुर। आबकारी घोटाले में गिरफ्तार पूर्व विशेष सचिव अरुणपति...